कोरोना वायरस को लेकर आज पूरी दुनिया परेशान है, इस महामारी ने कई हजार लोगों को निगल लिया, लेकिन अब लोगो के मन में बस यही सवाल है कि आखिर कोरोना वायरस का संकट कब खत्म होगा। भारत में भी कोरोना वायरस के मामले तेजी के साथ बढ़ रहें हैं।

एडिनब्रा विश्वविद्यालय में संक्रामक रोग महामारी विज्ञान के प्रोफ़ेसर मार्क वूलहाउस कहते हैं, हमारी सबसे बड़ी समस्या इससे बाहर निकलने की नीति को लेकर है कि हम इससे कैसे पार पाएंगे,

इस संकट से निकलने के तीन ही रास्ते हैं. पहला टीका, दूसरा लोगों में संक्रमण से बचने के लिए प्रतिरोधक क्षमता का विकास या हमारे समाज या व्यवहार को स्थाई रूप से बदलना। इनमें से हर एक रास्ता वायरस के फैलने की क्षमता को कम करेगा और धीरे धीरे इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

अमरीका में कोरोना वायरस के एक टीके का परीक्षण किया गया है लेकिन इसकी कोई गारंटी नहीं है कि यह सफल होगा या नहीं और क्या वैश्विक स्तर पर यह सभी को दिया जा सकेगा, अगर सब सही जाता है तो ऐसा अनुमान है कि 12 से 18 महीनों में यह टीका बन सकता है।

loading...

Related News