कोरोना वायरस अब तक दुनिया भर में 4 लाख से अधिक लोगों को संक्रमित कर चूका है और अभी भी आए दिन इस से जुड़े नए नए अध्यन्न और स्टडी सामने आती रहती है। हाल ही में कोरोनावायरस के नए सिम्पटम्स का भी खुलासा किया गया था कि इस समय सूंघने की श्रमता भी कम हो जाती है।

अब इसे लेकर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन यानी (CDC) ने एक नया दावा किया है। उनका कहना है कि बियर्ड यानी दाढ़ी वालों को इस वायरस से संक्रमित होने का खतरा अधिक है। लेकिन ऐसा क्यों है?

सीडीसी के अनुसार, मुंह को कवर करने वाला फेस मास्क बियर्ड होने पर फिट नहीं हो पाता है। इसमें लापरवाही बरतने से इंसान आसानी से कोरोना के संपर्क में भी आ जाता है।



न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के लैंगोन मेडिकल सेंटर में एलर्जी और इनफेक्शियस स्पेशलिस्ट पूर्वी पारिख ने इस बारे में भी जानकारी दी थी कि जिन लोगों के नाख़ून लम्बे हैं वो भी इस वायरस को दावत दे रहे हैं।

दरअसल कुछ लोगों को अपने नाख़ून चबाने की आदत होती है और इस आदत के कारण वे खुद को जोखिम में डाल रहे हैं। क्योकिं नाखुनों के अंदर मैल और बैक्टीरया जमा हो जाते हैं और हम जब उन्हें मुँह में लेते हैं तो ये बैक्टीरिया आसानी से हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं।



इसलिए आपको नाखूनों की सफाई करनी चाहिए और इन्हे काटना चाहिए और बियर्ड का भी खास तौर पर ध्यान रखें।

loading...

Related News