हस्तरेखा विधा के माध्यम से व्यक्ति की हथेली की लकीरों को देख कर उसके भविष्य के बारे में बताया जाता है। ठीक उसी तरह अंगूठे का अध्यन्न कर के भी जीवन और अन्य बातों के बारे में बताया जा सकता है। ये धन और काम की भक्ति को भी दर्शाता है।

आमतौर पर, अंगूठे में पार्व होते हैं और अंगूठे में तीन पार्व होना काफी अच्छा मना जाता है। पहला पार्व इच्छाशक्ति को दर्शाता है। दूसरा पार्व ज्ञान और तर्क को दर्शाता है। तीसरा पार्व छिपे ज्ञान के बारे में बताता है।

हिन्दू धर्म में कलाई पर धागा क्यों बाँधा जाता है, क्या होते हैं लाभ, जानिए!

अगर किसी व्यक्ति का अंगूठा लंबा होता है तो वो व्यक्ति बहुत बुद्धिमान होता है। वह अपने प्रभाव और क्षेत्र को बनाए रखता है। अगर किसी का अंगूठा ज्यादा लंबा नहीं होता है तो वो व्यक्ति कला के प्रति काफी रूचि रखता है।

इन अंधविश्वासों के पीछे का वैज्ञानिक कारण जानकर रह जाएंगे दंग!

अधिक कोण वाले अंगूठा व्यक्ति को दिव्य बनाता है। ये कमांड और बुद्धि का प्रतीक हैं। छोटा अंगूठा व्यक्ति क्रोधित और सनकी बनाता है।

loading...

Related News